Kids Short Stories

मुल्ला नसरुद्दीन और उसका पडोसी – Mulla Nasruddin Story in Hindi 

mulla-nasruddin-aur-uska-padosi-hindi-story
Written by Abhishri vithalani

मुल्ला नसरुद्दीन और उसका पडोसी – Mulla Nasruddin Story in Hindi

मुल्ला नसरुद्दीन की इस कहानी ( मुल्ला नसरुद्दीन और उसका पडोसी – Mulla Nasruddin Story in Hindi  ) में उसका पडोसी बार – बार मुल्ला के घर कुछ न कुछ मांगने के लिए आता है । मुल्ला नसरुद्दीन उस पडोसी से कैसे छुटकारा लेता है ये जानने के लिए आपको पढ़नी होगी ये कहानी ।

मुल्ला नसरुद्दीन  का पड़ोसी अक्सर कुछ न कुछ मांगने के लिए उसके घर आया करता था । मुल्ला उसके पडोसी की मांगने की इस आदत से परेशान हो चुका था । लेकिन पडोसी इस आदत से बाज़ नहीं आता था ।

हमेशा की तरह एक दिन पड़ोसी मुल्ला के घर पहुंच जाता है और दरवाजे पर खड़े होकर मुल्ला को आवाज देने लगता है । मुल्ला , मुल्ला बाहर आओ ।

मुल्ला बाहर आकर पडोसी से पूछते है की , आपको क्या काम है ?  पडोसी ने कहा , मुल्ला मुझे तुम्हरी आज जरुरत पड़ गयी इसलिए आना हुआ । दरअसल बात ऐसी है की मुझे थोड़ा सामान लेकर शहर जाना है । क्या तुम मुझे तुम्हारा गधा एक दिन के लिए दे सकते हो ?

Mulla Nasruddin Story in Hindi – ताकत का इम्तिहान

Mulla Nasruddin Short Story in Hindi – मुल्ला नसरुद्दीन का प्रवचन

Real Ghost Story In Hindi – कर्ज़दार लेकिन ईमानदार

Inspirational Hindi Story – कितने सेब है ?

मुल्ला को पडोसी की ये कुछ न कुछ मांगने की आदत बिलकुल भी पसंद नहीं थी । मुल्ला ने कहा , अरे भाई तुमने थोड़ी देर कर दी , मेने आज सुबह ही अपना गधा किसी और को दे दिया है । वास्तव में ऐसा कुछ भी नहीं था । मुल्ला अपना गधा उस पड़ोसी को देना नहीं चाहता था और इसलिए उसने ये बहाना बनाया था ।

मुल्ला की ये बात सुनकर पडोसी बस जाने ही वाला था की घर के अंदर से मुल्ला के गधे के रेंकने की आवाज़ आने लगती है । पडोसी गधे की आवाज सुनते ही समज जाता है की मुल्ला ने मुझे उसका गधा न देना पड़े इसलिए बहाना बनाया है ।

पडोसी ने मुल्ला से कहा की , तुम तो बोल रहे थे की तुमने अपना गधा किसी को दे दिया है लेकिन उसके रेंकने की आवाज़ तो तुम्हारे घर के अंदर से आ रही है ।

मुल्ला ने पडोसी से कहा , तुम्हें किस पर यकीन है मुझ पर या गधे पर ? इतना बोलकर मुल्ला अंदर घर में चले जाते है । पडोसी मुँह लटकाकर वापस चला गया और फिर कभी वापिस मुल्ला से कुछ मांगने के लिए नहीं आया ।

अगर आपको हमारी Story ( मुल्ला नसरुद्दीन और उसका पडोसी – Mulla Nasruddin Story in Hindi  ) अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में जरूर बताइये की कैसी लगी हमारी Story ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

1 Comment

Leave a Comment