Inspiring

समय का महत्व – Inspirational Story In Hindi

samay-ka-mahtva-hindi-inspirational-story
Written by Abhishri vithalani

समय का महत्व – Inspirational Story In Hindi

ये Story उन लोगो के लिए है जो अपनी जिंदगी में समय का सही तरह से उपयोग नहीं करते है । समय का महत्व समझना बेहद जरूरी होता है । जिंदगी में हमें जो हासिल करना होता है वो हमें सही वक्त पर हासिल कर लेना चाहिए क्योकि जिंदगी मोके कम और धोके ज्यादा देती है ।

समय हाथ से निकलने के बाद केवल हमारे पास पछतावा ही रहता है । जब हम उस गुजरे समय पर पछताते है तभी भी हमारा समय ही गुजर रहा होता है ।

एक दिन स्वामी विवेकानंद नदी के किनारे Boat का इंतजार कर रहे थे । तब वहा पर उनके पास एक साधु आकर बैठ गए । साधु ने स्वामी विवेकानंद से पूछा की आप यहाँ पर क्यों बैठे हो ? स्वामी विवेकानंद ने कहा की में यहाँ पर Boat का इंतजार कर रहा हु ।

साधु ने पूछा आपका नाम क्या है ? विवेकानंद ने कहा की में विवेकानंद हु । साधु चौंक गए और कहने लगे की आप सच में वो महान स्वामी विवेकानंद है वो ही है ? विवेकानंद ने कहा की हाँ में ही स्वामी विवेकानंद हु ।

साधु ने विवेकानंद के कहा की तो फिर आप क्यों यहाँ पर बैठे हो और इतना कहते ही साधु पानी पर चलने लगे । साधु ने पानी पर चलते हुए स्वामी विवेकानंद से कहा की देखो में पानी पर चल सकता हु क्या आप नहीं चल सकते हो ? स्वामी विवेकानंद ने उसका उतर नहीं दिया ।

क्रोध – Moral Story In Hindi

मार्ग की बाधा – Inspirational Story

कुछ देर बाद Boat आ गयी और स्वामी विवेकानंद ने उस साधु से कहा की आप भी चलिए मेरे साथ उस पार Boat में । साधु बिना कुछ सोचे तुरंत विवेकानंद के साथ Boat में बैठ गए ।

स्वामी विवेकानंद ने उस पार पोहचते ही Boat का भाड़ा दिया सिर्फ 1 रूपये । विवेकानंद ने बड़े ही विनम्र से साधु से पूछा की आप ने ये अदभुत विध्या प्राप्त करने में कितना समय गुजार लिया ? साधु ने कहा की मेने ये विध्या प्राप्त करने में 15 साल व्यतीत किये तब जाके मुझे ये विध्या प्राप्त हुई है ।

स्वामी विवेकानंद ने साधु से कहा की आपने जो विध्या प्राप्त की है उस विध्या के लिए केवल 50 पैसे दे कर आप इस पार से उस पार जा सकते हो । यानि केवल 50  पैसे के लिए आपने अपने 15  साल बिगाड़ दिए ।

स्वामी विवेकानंद का कहने का तातपर्य सिर्फ यही था की हमें समय सा सदुपयोग करना चाहिए । हमें इस तरह बेकार के कामो में अपना समय नहीं बिगाड़ना चाहिए ।

  • किसी ने क्या खूब कहा है , वक्त कहता है में फिर ना आउगा , क्या पता मैं तुजे हसाऊँगा या फिर रुलाऊंगा , जीना है तो इस पल जी ले क्योकि में इस पल को अगले पल तक न रोक पाउँगा ।

अगर आपको हमारी Story अच्छी लगी हो तो अपने Friends के साथ भी Share कीजिये और Comment में बताये की कैसी लगी आपको ये Story ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

4 Comments

  • Fine way of describing, and fastidious piece of writing to get data regarding my
    presentation subject, which i am going to deliver
    in academy.

  • I do not even know the way I ended up here, but I believed this post was good.
    I don’t know who you are however definitely you are going to a famous blogger for those who are not already.
    Cheers!

  • Hiya very cool site!! Guy .. Beautiful ..
    Wonderful .. I will bookmark your blog and take the feeds also?

    I’m satisfied to seek out so many helpful info right here within the post,
    we’d like work out extra strategies on this regard, thank you for
    sharing. . . . . .

Leave a Comment