Short Stories

True Story In Hindi – ऑटो का वो सफर

true-story-in-hindi
Written by Abhishri vithalani

ऑटो का वो सफर – True Story In Hindi

ये कहानी (True Story In Hindi – ऑटो का वो सफर ) एक सच्ची घटना पर आधारित है । एक लड़की जब शाम के वक्त ऑफिस से घर ऑटो में जा रही थी तब उसके साथ जो हुआ था उसके बारे में ये कहानी ( True Story In Hindi – ऑटो का वो सफर  ) है ।

जुली शाम के वक्त ऑफिस से घर जाने के लिए ऑटो का इंतज़ार कर रही थी । कुछ देर इंतज़ार करने के बाद जुली को एक ऑटो मिल गया और वो उसमे बैठ गयी । तभी उसके साथ एक लड़का भी ऑटो में बैठ गया । जहा पर जुली को जाना था उस लड़के को उससे कुछ ही दुरी पर आगे जाना था ।

उस लड़के को देखते ही जुली समज गयी की लड़का बहुत थका हुआ है । उस लड़के के कपडे भी थोड़े गंदे थे । ऑटो में बैठने के 10 मिनट बाद ही उस लड़के को नींद आने लगी । वो लड़का कोशिश कर रहा था की नींद ना आये लेकिन उसको नींद आ जाती है और वो सो जाता है ।

करीब 5 मिनट के बाद उस लड़के को गहरी नींद आ गयी और उसने उसका सर जुली के कंधो पर रख दिया । नींद इतनी गहरी थी की उसको पता भी नहीं चला की उसने उसका सर जुली के कंधो पर रख दिया है । जुली को इस बात का एहसास था की ये लड़का बिचारा पूरा दिन काम करके थक गया है इसलिए उसने उस लड़के से कुछ नहीं कहा ।

5 मिनट के बाद रास्ता थोड़ा ख़राब आ गया और ऑटो थोड़ा उछलने लगा और एक झटका लगने से उस लड़के की नींद खुल गयी । नींद खुलने पर उस लड़के को एहसास हुआ की उसने अपना सर जुली के कंधो पर रख दिया था ।

उस लड़के ने तुरंत जुली से माफ़ी मांगी और कहा की , मेडम मुझे माफ़ कर दीजिये , प्लीज मेडम मुझे माफ़ कर दो , मुझसे गलती हो गयी है । मेने जो किया उसके लिए में बहुत शर्मिंदा हु , प्लीज माफ़ कर दो ।

वो लड़का लगातार जुली से माफ़ी मांगता रहा । जुली ने कहा अरे इसमें इतना माफ़ी मांगने की कोई जरुरत नहीं है । मेने देखा की आप बहुत थके हुए थे , मेने तो सिर्फ आपको 5 मिनट के लिए अपना कन्धा दिया , इसमें माफ़ी मांगने की कोई जरुरत नहीं है । तुम क्यों इतनी माफ़ी मांग रहे हो ?

जुली की बात सुनकर उस लड़के ने राहत की साँस ली और कहा की मेडम आप बहुत अच्छी इंसान हो । लड़के ने जुली से ये भी कहा की , में डर गया था की कही आप मुझे आवारा लड़का ना समज ले । आपने तो इस बात का बिलकुल बुरा भी नहीं माना , अगर आपकी जगह पर कोई दूसरी लड़की होती तो वो मेरी इस हरकत की के लिए पुलिस में रिपोर्ट कर देती ।

मेडम में एक अच्छे परिवार से हु और कुछ दिन पहले ही मुझे मार्केटिंग की जॉब मिली है । में तो डर गया था की आप मेरी इस हरकत की के लिए पुलिस में रिपोर्ट कर देंगी और उसके बाद मेरे पूरा करियर ख़राब हो जायेगा ।

लड़के ने ये भी कहा की इसके सम्बंधित मेने सोशल मीडिया में बहुत सारे किस्से भी देखे है । में तो अब लड़कियों को देखकर ही डरता हु ।

Motivational Story In Hindi For Students – अस्वीकार

Short Heart Touching Story In Hindi – इंसानियत

मदद – Inspirational Story In Hindi

उस लड़के की ये सब बात सुन कर जुली बहुत हैरान रह गयी । हम भी ये बात सुनकर अनुमान लगा सकते है की इस लड़के के दिल में कितना खौफ था ।

थोड़ा सोचो , अगर इस लड़के ने ये हरकत जुली के सिवा और किसी लड़की के साथ की होती तो क्या होता ? वो लड़की आसानी से इस लड़के पर छेड़-छाड़ का केस कर सकती और उसके बाद बड़ी आसानी से इस लड़के की पूरी लाइफ खराब हो जाती । या फिर वो इस जुली की तरह बात को अच्छे से समझती और केस नहीं करती ।

मे सभी लड़कियों से यही कहना चाहूंगी की सभी लड़के या फिर मर्द ख़राब नहीं होते है और वो हमारा फायदा उठाना नहीं चाहते है , हो सकता है की कुछ लड़के ऐसी मानसिकता वाले हो लेकिन सभी ऐसे नहीं होते है । हमें हर लड़को को शक और घृणा की नजरो से नहीं देखना चाहिए ।

और में सभी लड़को से यही कहना चाहूंगी की सभी लड़किया बिना सोचे समजे लड़को पर केस नहीं करती है । इसके लिए आपको इस लड़के की तरह लड़कियों से डरने की कोई जरुरत नहीं है ।

अगर आपको हमारी Story ( True Story In Hindi – ऑटो का वो सफर ) अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में जरूर बताइये की कैसी लगी हमारी Story ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

Leave a Comment