Horror

Horror Story In Hindi – बारिश की वो रात

horror-story-in-hindi
Written by Abhishri vithalani

बारिश की वो रात – Horror Story In Hindi

इस कहानी  में बारिश में रात को चार Collegian को कुछ दिखाई देता है । उनको क्या दिखाई देता है इसे जानने के लिए आपको पढ़नी होगी ये कहानी (बारिश की वो रात – Horror Story In Hindi) Horror Story In Hindi ।

बिजल और प्रिया दोनों बहुत अच्छे दोस्त है । वो दोनों गर्ल्स हॉस्टल में साथ ही रहते है । एक दिन अच्छी बारिश हो रही थी । प्रिया ने बिजल से कहा की चलो हम बहार बारिश में भीगने चलते है ।

बिजल ने कहा अरे नहीं यार तुम्हे तो पता है की हमारी वार्डन को पता चल गया तो वो हमें बहुत डाँटेगी । प्रिया ने कहा तुम भी ना कितना डरती हो उस वार्डन से ।

चलो अब कुछ भी नहीं होगा । हम वापिस भी आ जायेगे और हमारी उस खड़ूस वार्डन को पता भी नहीं चलेगा । प्रिया के इतने मनाने के बाद आखिर बिजल मान ही जाती है और बारिश में भीगने के लिए बहार वो दोनों बिना किसी को बताये ही चले जाते है ।

(आप लोग ये सोच रहे होंगे की प्रिया बिजल को इतना क्यों मना रही थी ? लेकिन बात कुछ ऐसी थी की प्रिया और रोहन दोनों ने मिलकर ये प्लान बनाया था की आज वो दोनों बिजल और गौरव को मिलाकर ही रहेंगे । गौरव बिजल से बहुत प्यार करता था लेकिन उसे आज तक बता नहीं पाया था और बिजल भी गौरव से बहुत प्यार करती थी लेकिन उसे बता नहीं पायी थी । )

बिजल और प्रिया दोनों उसके हॉस्टल के पीछे जो गार्डन था उसमे बारिश का मजा ले रहे है । प्रिया बिजल को बता रही है की देखो कितना मजा आ रहा है इसलिए ही में तुम्हे यहाँ आने के लिए बोल रही थी ।

बिजल ने कहा अरे अब क्यों मुझे इतना सुना रही हो , हम आ तो गए तुम्हारे साथ । वहा उस गार्डन से बॉयज हॉस्टल का भी रास्ता निकलता था । तभी प्रिया ने देखा की रोहन गौरव को लेकर बॉयज हॉस्टल के रास्ते से आ रहा है ।

जब बिजल ने रोहन और गौरव को आते हुए देखा तब वो थोड़ा डर गयी और प्रिया से पूछने लगी की प्रिया ये दोनों यहाँ पर क्या कर रहे है ? बिजल ने डरते हुए प्रिया से ये भी कहा की अगर वार्डन को पता चल गया की हम सब यहाँ है तो आज हमारी खैर नहीं ।

प्रिया ने कहा अरे कुछ नहीं होगा तू इतना डरती क्यों है । प्रिया अब बिजल का हाथ पकड़कर उसे रोहन और गौरव से साथ ले जाती है और वहां जाकर गौरव से कहती है की गौरव आज तो तुम्हे अपने प्यार का इजहार करना ही होगा ।

ये सब देखकर बिजल प्रिया की और घूरने लगी क्योकि शायद उसे ऐसा लगा था की प्रिया ने रोहन और गौरव को बता दिया है की वो गौरव से प्यार करती है । प्रिया ने बिजल से कहा की अरे तुम मुझे ऐसे क्यों देख रही हो ? मेने तो किसी को कुछ भी नहीं बताया ।

बदलाव – Short Story In Hindi

Triple Filter Test – Inspirational Story In Hindi

पारस का पत्थर – Inspirational Story In Hindi

तभी रोहन बिच में बोलता है की बिजल बात कुछ ऐसी है की मेरे दोस्त गौरव को तुमसे प्यार हो गया है लेकिन वो आज तक तुमसे बोल नहीं पाया है । गौरव ये सब देखकर मुस्कुराने लगा । बिजल ने कहा अच्छा ये बात है जिसे प्यार हुआ है वो तो कुछ बोल नहीं रहे है और निचे देखकर मुस्कुरा रहे है ।

रोहन ने गौरव को चिढ़ाते हुए कहा की अब भाई बोल भी दे इतना क्या शरमाना । तभी प्रिया और बिजल दोनों हसने लगे । गौरव बिजल को गार्डन में थोड़े दूर ले गया और वो अपने घुटनो के बल पर बैठ गया फिर उसने बिजल से कहा की में तुमसे बहुत प्यार करता हु ।

मेने जब तुम्हे पहली बार देखा था तभी से तुम्हे चाहने लगा हु । में हमेशा तुम्हारे ख्यालो में खोया रहता हु । क्या तुम भी मुझसे प्यार करती हो ? बिजल ने गौरव से कहा की में भी तुमसे बहुत प्यार करती हु लेकिन कभी भी तुम्हे बता नहीं पाई ।

ये सब देखकर प्रिया और रोहन बहुत ज्यादा खुश हो गए । वो दोनों बिजल और गौरव को मिलाकर बहुत खुश हो गए थे । उन दोनों का प्यान कामयाब हो गया था ।

तभी रोहन की नजर टेरेस की ओर गई ओर वहा पर उसे कोई लड़की दिख रही थी । उसने प्रिया से कहा देखो वहा टेरेस पर कोई लड़की खड़ी है । प्रिया ने देखा वहा पर सच में कोई लड़की खड़ी थी ओर शायद वो लड़की आत्महत्या करने जा रही थी ।

प्रिया फटाफट टेरेस की ओर जाने लगी ओर उसे देखकर रोहन भी उसके पीछे भागने लगा । तभी गौरव और बिजल ने रोहन से पूछा की तुम दोनों कहा जा रहे हो ? रोहन ने ऊपर जाने का रास्ता इसारो से बताया । प्रिया के पीछे पीछे वो तीनो भी टेरेस पर चले गए ।

वो लड़की अभी भी टेरेस के किनारे खड़ी थी । उस लकड़ी को पकड़कर प्रिया ने निचे उतारा ओर वो लड़की रो रही थी । रोते हुए वो लड़की ये बोल रही थी की मुझे मर जाने दीजिये । हम जीना नहीं चाहते है । तभी बिजल भी उसके पास आयी ओर बोलने लगी की तुम ये क्या करने जा रही थी और क्यों ऐसा कर रही हो ।

उस लड़की ने कहा मेरी मज़बूरी कोई नहीं समजेगा और फिर वो लड़की रोने लगी । रोहन उसके पास आया और उसने कहा की तुम पहले रोना बंद करो और हमें बताओ की तुम्हारे साथ क्या हुआ है । हम सब तुम्हारे साथ है ।

बिजल ने कहा पहले हम सब मेरे और प्रिया के रूम में चलते है क्योकि हम सब को वार्डन ने यहाँ देख लिया तो हम सब मुश्किल में पड जायेगे । सभी ने कहा अच्छा ठीक है वहा चलते है ।

सभी रूम में गए और फिर प्रिया ने कहा अब बताओ तुम्हारे साथ क्या हुआ है की तुमने अपनी जान लेने का निर्णय ले लिया । उस लड़की ने बोलना शुरू किया ….

हमारा नाम काजल है । हम भी इसी हॉस्टल में रहते है । जब हम First Year में थे तब हमें एक लड़के से प्यार हो गया था । उस लड़के का नाम था जय । वो भी हमसे बहुत प्यार करता था । सब कुछ अच्छा चल रहा था । बिच में प्रिया ने पूछा तो फिर बाद में क्या हुआ ?

काजल ने कहा एक दिन जय हमें उसके किसी दोस्त के घर पर ले गए और हमें वहा पर एक कमरे में ले गए । मेने बोला तुम ये क्या कर रहे हो ? मुझे कहा ले जा रहे हो ? उसने मुझसे कहा की तुमको मुज पर भरोसा नहीं है ? मेने कहा हां मुझे तुम्हारे पर पूरा भरोसा है ।

वो उस रात मेरे पास आये । हमने मना कर दिया पर फिर भी वो नहीं माने । उस रात वो हमारे बहुत करीब आ गए थे । हमें उस पर पूरा भरोसा था लेकिन ..

तभी बिजल ने कहा लेकिन क्या काजल बोलो । काजल ने कहा की कुछ ही दिनों के बाद मुझे पता चला की में पेट से हु । में तब बहुत डर गयी थी । मेने ये बात जय को भी बतायी थी लेकिन उसने मुझसे रिस्ता तोड़ दिया ।

जय ने हमें और हमारे बच्चे को अपनाने से मना कर दिया । अब हम क्या करते , अगर ये बात सब को पता चल गयी तो हम किसी के सामने मुँह दिखाने के लायक भी नहीं रहते ।

इतना बोलकर वो रोने लगी । उन चारो ने कहा तुम शांत हो जाओ हम सब तुम्हारे साथ है । तभी वार्डन वहा से गुजर रही थी उसने कमरे की बत्ती जली हुई देखी और वो दरवाजा खटखटाने लगी ।

प्रिया और बिजल दोनों खड़े हो गए और साथ ही रोहन और गौरव भी दरवाजे की ओर देखने लगे । बिजल ने डरते हुए दरवाजा खोला । वार्डन दो लड़को को देखकर गुस्से से बोली तुम दोनों कौन हो और यहाँ क्या कर रहे हो ?

तभी प्रिया ने बोला वो काजल कहा चली गयी । वार्डन ने बड़े आश्चर्य के साथ कहा क्या काजल ? काजल यहाँ पर आयी थी ? तभी प्रिया और बिजल ने कहा जी काजल पर आप ऐसे क्यों बोल रही हो ।

वार्डन ने कहा फिर तो उसने आपको उसकी कहानी सुनाई होगी । वो चारो ने कहा हां हमें सुनाई उसने उसकी कहानी पर ये सब आपको कैसे पता चला ?

तभी वार्डन ने कहा अब में आपको जो बताने वाली हु वो बात आप केवल हमारे पांच के बिच ही रहने देना । चारो ने कहा अच्छा ठीक है बताओ ।

वार्डन ने कहा उसने तुम लोगो को जो कुछ भी बताया वो सब सच है लेकिन काजल जिन्दा नहीं है । इतना सुनते ही उन चारो के तो होश ही उड़ गए । गौरव ने पूछा इसका मतलब क्या है ?

वार्डन ने कहा की इसका मतलब आज तो तुम्हारे साथ थी वो काजल नहीं बल्कि उसकी रूह होगी । वो बारिश के मौसम में आती है और उसने आज से पहले भी ऐसे कई लोगो को अपनी कहानी बताई है ।

इतना सुनते ही वो चारो डर जाते है । तभी वार्डन ने कहा तुम सभी डरो मत वो किसी के साथ कुछ बुरा नहीं करती है । वो तो केवल अपनी कहानी बताती है जिससे किसी और के साथ ऐसा ना हो ।

तभी प्रिया ने वार्डन से पूछा की जय का क्या हुआ ? वार्डन ने कहा की उसकी तो बहुत पहले ही मौत हो चुकी है । प्रिया ने पूछा की उसकी मौत कैसे हुई ? वार्डन ने कहा की उसको तो काजल ने ही मार डाला था ।

काजल की मौत आत्महत्या से हुई थी इसलिए उसकी रूह भटक रही थी और जय को वो डरा कर टेरेस पर ले गयी थी और डर के कारण जय का ध्यान नहीं रहा और उसका पैर फिसल गया और उसकी मृत्यु हो गयी ।

वार्डन ने कहा तुम सब डरो मत वो सिर्फ एक बार ही दिखाई देती है और तुम्हे कुछ नहीं करेगी । तुम लोग कभी भी रात में वहा पर मत जाना और उन्होंने रोहन ओर गौरव से कहा की तुम दोनों निकलो यहाँ से । तुरंत गौरव और रोहन वहा से चले गए ।

वार्डन ने प्रिया और बिजल से कहा की आज के बाद ऐसा कुछ नहीं होना चाहिए और तुम दोनों कभी भी बिना बताये ऐसी जगह पर मत जाना । दोनों ने सर हिलाकर हां में जवाब दिया ।

वार्डन ने जाते जाते कहा ये सब बाते किसी को मत बताना और भूल जाना ये जो कुछ भी हुआ है वो सब । दोनों ने कहा अच्छा ठीक है । अब वार्डन चली जाती है और डर के मारे प्रिया और बिजल भी इतनी रात को सो जाते है ।

Note : ( बारिश की वो रात – Horror Story In Hindi ) ये कहानी केवल मनोरंजन के लिए है इसके पीछे हमारा उदेश्य किसी भी प्रकार की अंधश्रध्धा का प्रसार करने का नहीं है ।

अगर आपको हमारी Story ( बारिश की वो रात – Horror Story In Hindi ) अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में जरूर बताइये की कैसी लगी हमारी ये कहानी – Horror Story In Hindi ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

Leave a Comment