Inspiring

आत्मविश्वास – Inspirational Story In Hindi

aatmavishvaas-inspirational-hindi-story
Written by Abhishri vithalani

आत्मविश्वास – Inspirational Story In Hindi

Life  में कई बार ऐसा होता है की हमारे में और किसी की नहीं बल्कि आत्मविश्वास की ही कमी होती है । हम जो करना चाहते हे वो नहीं कर पाते है क्योकि हमारे में आत्मविश्वास ही नहीं होता है । ये कहानी आत्मविश्वास के बारे मैं ही है ।

एक बड़ा Businessman था । उसकी कंपनी बहुत समय से अच्छी चल रही थी । लेकिन कुछ ऐसा समय आया की उसका कर्जा बढ़ गया और उसके Business की बहुत बुरी हालत हो गयी । वो अब निराश हो गया था । अपने Business की चिंता की वजह से वो एक बगीचे में बैठ कर सोच रहा था की कुछ ऐसा हो की मेरा Business वापिस पहले जैसा हो जाये ।

उसे उस बगीचे में एक बूढ़ा आदमी मिलता है । वो उसे परेशान देखकर कहता है की क्या हुआ ? तुम क्यों परेशान हो मुझे बताओ । सायद में तुम्हे कुछ मदद कर पाऊ । वो Businessman उस बूढ़े आदमी को अपनी परेशानी बताता है । वो उन्हें यह भी कहता है की मेरे Business में अब कर्जा बहुत ज्यादा बढ़ गया है ।

वो बूढ़ा आदमी उस Businessman को 70 लाख का चेक देता है और उनसे कहता है की तुम इस चेक का उपयोग करो और अपने Business को फिर से पहले जैसा कर दो । लेकिन शर्त सिर्फ यही है की तुम्हे ठीक 1 साल बाद मुझे मिलना होगा , इसी बगीचे में मुझे मेरे 70 लाख वापिस लौटा देना। Businessman ने चेक पर देखा तो उसे पता चला की उस चेक पर उसके शहर के सबसे अमीर आदमी के हस्ताक्षर थे ।

वो Businessman उस बूढ़े आदमी से प्रभावित हो गया था और हो भी क्यों ना ? उसे पता चल गया था की यह तो कोई और नहीं बल्कि हमारे शहर के अमीर आदमी जॉन फेडरल ही है । उसने कहा की अच्छा ठीक है में आपको आपके पुरे पैसे 1 साल बाद लौटा दूंगा । अब वो Businessman बहुत ही खुश था । उसे लगता था की मेरी सारी परेशानी दूर हो जाएगी ।

उस बिजनेसमैन ने अपना बिज़नेस फिर से खड़ा करने के बारे में सोच भी लिया था । लेकिन उसने यह तैय किया था की वो जब बहुत ज्यादा जरूरत होगी तभी उस 70 लाख का उपयोग करेगा । अब उसे पूरा आत्मविश्वास था की में अपने Business को फिर से जरूर खड़ा कर पाउँगा क्योकि उसके पास 70 लाख का चेक जो था ।

वो पूरी लगन और मेहनत से अपना Business आगे बढ़ाता गया और उसका Business फिर से अच्छा चलने लगा । उसने पुरे आत्मविश्वास से अपना Business बिना वो 70 लाख का उपयोग किये फिर से खड़ा कर दिया । अब उसने अपने सारे कर्जे भी चूका दिए थे ।

1 साल के बाद वो फिर उसी बगीचे में 70 लाख का चेक लेकर जाता है । वहा जाकर देखता है की जो बूढ़ा आदमी उसे 1 साल पहले मिला था वो भी वहा पर ही बैठा था । वो Businessman उसके पास जाकर कहता है की आपका धन्यवाद आपके इस चेक के कारन ही मेने अपना Business का सारा कर्ज चूका दिया । मेने आपके चेक का उपयोग ही नहीं किया है और मेरा Business भी पहले जैसा अच्छा चल रहा है ।

नेत्रहीन लड़की – Blind Girl Inspirational Story In Hindi

लोहार की महानता – Inspirational Story In Hindi

वो Businessman उस बूढ़े आदमी से बात कर ही रहा था तभी पास के ही पागलखाने से 5-6 कर्मचारी आते है और उस बूढ़े आदमी को पकड़ कर ले जाते है । वो Businessman उस लोगो को बताता है की आप ये क्या कर रहे हो ये तो हमारे शहर के सबसे अमीर जॉन फेडरल है । आप लोग उनको क्यों ऐसे ले जा रहे हो ?

तभी एक कर्मचारी बोलता है की ये तो एक पागल है जो अपने आप को जॉन फेडरल समझता है । ये हमेसा इसी बगीचे में भागकर आता है और लोगो को बताता है की में जॉन फेडरल हु । लगता है की आप को भी उसने बेवकूफ बनाया है ।

उस कर्मचरी की बाते सुनकर वो Businessman सुन्न हो गया । उसे यकीन नहीं हो रहा था की ये बूढ़ा आदमी जॉन फेडरल नहीं था और 1 साल से वो जिस चेक के भरोसे अपने Business में जोखिमें उठा रहा था वह नकली था ।

वह काफी देर सोचता रहा फिर उसे समझ में आया कि वो पैसा नहीं था जिसके दम पर उसने अपना Business वापिस खड़ा किया है बल्कि यह तो उसका आत्मविश्वास था ।

इस कहानी से ये बात तैय की जा सकती है की अगर हम खुद पर भरोसा रखे और हर हाल में अपने आत्मविश्वास को टिकाये रखे तो हम कोई भी काम कर सकते है । हमारे लिए कोई भी काम मुश्किल नहीं होता है अगर हम आत्मविश्वास रखे तो ।

अगर आपको हमारी Story अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में जरूर बताइये की कैसी लगी हमारी Story ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

Leave a Comment