Horror

लॉन्ग ड्राइव – Horror Story In Hindi

long-drive-horror-story-in-hindi
Written by Abhishri vithalani

लॉन्ग ड्राइव – Horror Story In Hindi

इस कहानी में पति और पत्नी लॉन्ग ड्राइव के लिए निकलते है और वह पर उन दोनों के साथ कुछ बुरा होता है । उन दोनों के साथ क्या बुरा होता है ये जानने के लिए आपको पढ़नी होगी ये कहानी ( लॉन्ग ड्राइव – Horror Story In Hindi ) ।

हेमा और शिवम लॉन्ग ड्राइव पर निकले थे । ठंड और बरसात की वो रात ने उन दोनों को अपने कॉलेज के दिनों की याद दिला दी थी । कॉलेज के दिनों में शिवम अक्सर अपनी कार लेकर आता था और हेमा को उसके हॉस्टल से निकाल कर ले जाया करता था ।

बरसात की रात थी और सड़क भी खाली थी । शिवम पुराने गाने बजा रहा था और दोनों इस रात का अच्छे से मजा ले रहे थे । हेमा ने शिवम से कहा की आप यह गाने बजाना बंद कर दीजिये और मुझे अपनी आवाज में गा के सुनाये ।

शिवम ने गाने बंद कर दिए और वो खुद गाने लगा । साथ में हेमा ने भी गाना शुरू कर दिया । अब दोनों साथ में गाना गा रहे थे और अपने लॉन्ग ड्राइव का मजा ले रहे थे ।

अचानक शिवम का ध्यान सामने गया । शिवम को कुछ परछाई सी दिखी और वो जबतक अपनी गाडी मोड़ता तब तक वो परछाई उनकी गाड़ी से जोर से टकरा गयी ।

शिवम ने तुरंत ब्रेक लगायी । अचानक हुई इस घटना से हेमा डर जाती है । वो डरते हुए शिवम से पूछती है शिवम क्या हुआ ? हमारी गाडी से क्या टकराया ?

शिवम ने हेमा से कहा की तुम शांत हो जाओ और डरो मत । मुझे पता नहीं क्या टकराया । अचानक से कुछ सामने आया , मुझे ऐसा लगता है की शायद कोई जानवर होगा । रास्ता पार करने के चक्कर में हमसे टकरा गया होगा । तुम यही बैठो में देखकर आता हु ।

शिवम गाडी से बहार निकला । जैसे ही उसने गाडी के आगे पहुंचकर देखा वैसे ही उसके होश उड़ गए और वो बहुत बुरी तरह से कांपने लगा । शिवम थोड़ा निचे जुका और फिर से खड़ा हो जाता है । शिवम की शक्ल पर खौफ दिखाई दे रहा था ।

अपने पति की शक्ल पर खौफ देखकर हेमा काफी डर गयी थी और उसे पता चल गया था की कुछ तो बुरा जरूर हुआ है । काफी समय तक दोनों के बिच में ख़ामोशी रही ।

उस वक्त रास्ते पर बरसात की आवाज के सिवा और कोई आवाज नहीं आ रही थी । हेमा ने अपने तरफ की कांच धीरे से निचे की और थोड़ी हिम्मत से शिवम को पूछ ही लिया की क्या बात है ? तुम इतने चुप क्यों खड़े हो ?

शिवम ये सुनते ही हेमा के पास आया और बोला की हेमा … हेमा बहुत बुरा हो गया । हेमा बोली आखिर क्या हुआ है ? शिवम बोला मेने एक इंसान को कुचल दिया है ।

हेमा चिल्लाते हुए बोली क्या ! तो क्या वह जिन्दा है ? हमें उसे अस्पताल ले जाना चाहिए ? शिवम बोला अफ़सोस गाडी की टक्कर से वो मर गया । मेने उसकी नब्ज देखि , वह बंद पड गयी है । उसे अस्पताल ले जाने का कोई फायदा नहीं है ।

हेमा चिंता भरे आवाज में बोली ” तो अब हम क्या करेंगे शिवम ? ” पुलिस को फ़ोन करे ? उन्हें सब बता दे ?

शिवम ने हेमा से कहा की अगर हमने ये बात पुलिस को बता दी की वो हमारे सामने अचानक आ गया था और उसकी मोत हो गयी तो पुलिस आसानी ने नहीं मानेगी । मुझे नहीं लगता की ये बात पुलिस को बताने से आसानी से निपटेगी ।

पुलिस इस केस को सीधा ड्राइविंग में लापरवाही बताएगी और अगर इसके परिवार वाले हुए , तो वो भी हमसे पैसे निकालने की पूरी कोशिश करेंगे । बरसो कोर्ट के चक्कर लगेंगे और पैसे जायेगे वो अलग । मेरे एक दोस्त से साथ भी ऐसा ही हुआ था ।

हेमा ने पूछा तो अब हम क्या करेंगे ? शिवम ने कहा की हमें जल्द से जल्द इस लाश को ठिकाने लगाना होगा । हेमा ने शिवम से कहा की अगर पुलिस हमें इसे ठिकाने लगाते हुए देख लेगी तो हम बहुत बुरी तरह फस जायेगे ।

शिवम ने हेमा से कहा तो फिर अब क्या करे ? इसकी लाश को यही छोड़ देते है । अगर पुलिस को कोई सुराग मिल गया हमारे खिलाफ तो क्या करेंगे ? रुको मुझे एक आईडिया आया है ।

हेमा ने कहा जल्दी बताओ । तुम्हे क्या आईडिया आया है । शिवम ने कहा की बारिश हो रही है इसलिए इस गाडी के टायर के निशान गायब हो जायेगे । इस व्यक्ति के खून के निशान भी गायब हो जायेगे और कोई सुराग भी नहीं मिलेगा ।

हम ऐसा करते है की इस लाश को कही दूर ले जाकर डाल देंगे । जब पुलिस को इसकी लाश मिलेगी तब वह हमें किसी भी तरह नहीं पकड़ पाएंगे क्योकि कोई सुराग ही नहीं बचा होगा ।

हेमा ने कहा अच्छा ठीक है , अब चलो जल्दी हम मिलकर इस लाश को डिक्की में रख देते है । दोनों ने मिलकर लाश को डिक्की में रख दिया ।

शिवम ने गाडी चलाना शुरू कर दिया और वो बड़ी तेजी से गाडी चला रहा था । हेमा ने रास्ते में शिवम से पूछा की तुम इस लाश को कहा छुपाने वाले हो ? शिवम ने कहा यहाँ पास में ही एक खाली मैदान है , वो मैदान बदमाशों के अड्डे के रूप में बदनाम है ।

अगर हमने वहा पर इसकी लाश फेक दी तो पुलिस ऐसा ही सोचेगी की किसी बदमाश ने ही इसकी हत्या कर दी होगी । हेमा ने कहा अच्छा ठीक है ।

शिवम ने आगे मोड़ पर अपनी गाडी मोड़ ली और वह उस नए रास्ते की और जाने लगे । कुछ और आगे जाने के बाद शिवम और हेमा उस मैदान के पास पहुंच गए ।

लेकिन वहा पर पहुंचते हुए ही शिवम ने सामने देखकर बोला की ओह शीट ! सामने ही पुलिस की 2 गाड़िया खड़ी थी । हेमा ने शिवम से कहा अब क्या करेंगे ।

शिवम ने हेमा से कहा की तुम डरो मत , हमें बस पुलिस के सामने ऐसे ही बर्ताव करना है जैसे की हम एक रोमांटिक सैर के लिए निकले है । हेमा ने कहा अच्छा ठीक है हम बिलकुल ऐसे ही बर्ताव करेंगे ।

शिवम गाडी आगे ले गया और पुलिस ने उसको रुकने का इशारा किया । एक पुलिसकर्मी शिवम के पास आया और शिवम ने कांच निचे कर दिया ।

पुलिस ने शिवम से कहा की अपना लाइसेंस दिखाओ । शिवम ने तुरंत अपना लाइसेंस दिखा दिया । पुलिस ने शिवम से पूछा ये कौन है ? आपकी पत्नी ? इतनी रात यहाँ क्या कर रहे हो ? तुम्हे पता नहीं है की ये जगह खतरनाक है ?

अपने डर को हसी के जरिये छुपाते हुए शिवम ने पुलिस से कहा की जी ये मेरी पत्नी है , यह है इनका ID , हम दोनों लॉन्ग ड्राइव के लिए निकले थे । मुझे लगता है की मेने गलत टर्न ले लिया ।

पुलिसकर्मी ने कहा अच्छा ठीक है पर यह दुबारा मात आना । चलो अब तुम्हारी डिक्की खोलकर बताओ । शिवम ने चोकते हुए कहा सर डिक्की ?  पर क्यों …

पुलिस वाले ने कड़क आवाज में कहा की ” हमें जानकारी मिली है की कुछ तस्कर यही से अपना माल ले जने वाले है । हमें जाँच तो करनी पड़ेगी । चलो गाडी की डिक्की खोलो ।

एक पिता की आत्मा – Horror Story In Hindi

Hindi Horror Story – वो कौन था ?

एक अनोखा दीवाना – Ghost Story In Hindi

Horror Story In Hindi – बारिश की वो रात

ये सुनकर हेमा और शिवम के पसीने छूट रहे थे । शिवम चाभी लेकर गाडी से उतर गया । हवलदार टोर्च लेकर खड़े थे । शिवम बहुत परेशान हो रहा था पर उसके पास और कोई चारा भी नहीं था । शिवम ने चाभी लगाई और डिक्की खोल दी ।

हवलदार ने डिक्की में टोर्च मारी और चिल्लाकर कहा , साहब डिक्की में कुछ नहीं है , खाली है । ये सुनकर शिवम हैरान रह जाता है की आखिर ऐसा कैसे हो सकता है ? उसे अपनी निगाहें मोड़ ली थी लेकिन हवलदार की बात सुनने के बाद उसने डिक्की की और देखा तो डिक्की सच में खाली थी ।

शिवम को पुलिसकर्मी ने कहा ठीक है सर आप जा सकते हो । शिवम सीधा जाकर गाडी में बैठ जाता है । वो कुछ नहीं बोला और दोनों निकल गए ।

हेमा ने पूछा हम कैसे बचे ? तुमने क्या किया ? शिवम ने कहा में कुछ नहीं जानता हु । जब डिक्की खोली तब वह खाली मिली । खून का एक धब्बा भी नहीं मिला ।

हेमा आश्चर्य के साथ बोली लेकिन ये कैसे संभव है ? शिवम ने कहा में कुछ नहीं जानता हु और जानना भी नहीं चाहता हु । हेमा ने कहा में भी इसके बारे में और कोई बात नहीं करना चाहती हु ।

दोनों ने तय किया की अब हम दोबारा कभी भी बरसात की रात में लॉन्ग ड्राइव के लिए नहीं जायेगे ।

Note : ( लॉन्ग ड्राइव – Horror Story In Hindi ) ये कहानी केवल मनोरंजन के लिए है इसके पीछे हमारा उदेश्य किसी भी प्रकार की अंधश्रध्धा का प्रसार करने का नहीं है ।

अगर आपको हमारी Story ( लॉन्ग ड्राइव – Horror Story In Hindi ) अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में जरूर बताइये की कैसी लगी हमारी ये कहानी ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

Leave a Comment