Kids

Hindi Story Of Akbar Birbal – मालिक कौन और नौकर कौन ?

hindi-story-of-akbar-birbal
Written by Abhishri vithalani

मालिक कौन और नौकर कौन ? – Hindi Story Of Akbar Birbal

इस कहानी ( मालिक कौन और नौकर कौन ? – Hindi Story Of Akbar Birbal ) में बादशाह अकबर के दरबार में दो व्यक्ति आते है । वो दोनों में से कौन मालिक है और कौन नौकर है ये पता लगाना था । दोनों ही मालिक होने का दावा कर रहे थे । बीरबल कैसे पता लगाता है ये जानने के लिए आपको पढ़नी होगी ये कहानी ।

एक दिन बादशाह अकबर के दरबार में दो व्यक्ति अपना झगडा सुलझाने के लिए आते है । बादशाह अकबर ने दोनों से कहा की बताओ तुम दोनों किस बात पर झगड रहे हो ।

पहले ने कहा , में एक व्यापारी हूँ और मेरे पास बहुत सारी जमीन भी है । लेकिन ये आदमी दावा कर रहा है की में इसका नौकर हूँ और इसकी पहचान लेकर मैंने इसके व्यापार , दौलत और जमीन पर कब्ज़ा कर लिया है ।

दूसरे ने कहा , जाहपनाह ये झूठ बोल रहा है । वास्तव में मै अमीर हूँ और मेरे पास कई एकड़ जमीन है , मेरा व्यापार भी अच्छा है । ये मेरा नौकर है । 5 महीने के लिए व्यापार के सिलसिले में मुझे परदेश जाना पड़ा और उस दौरान मेने मेरा सारा व्यवसाय और जमीनों की देखभाल करने की जिम्मेदारी इसको दी थी । मेने मेरी सारी दौलत इसे संभालकर रखने के लिए दी थी किन्तु इसके मन में खोट आ गयी और इसने मेरी सारी दौलत हड़प ली । कृपया आप इसका न्याय करें ।

बादशाह अकबर दोनों की पूरी बात सुनकर सोच में पड़ गए । उन्होंने दरबार में उपस्थित मंत्रियों से पूछा , क्या आप में से कोई इस झगड़े को सुलझा पायेगा ? जो भी इस झगड़े को सुलझा देगा उसे में इनमे दुगा ।

हमेशा की तरह बीरबल खड़ा हुआ और उसने कहा , जी में इस झगड़े को सुलझा दूंगा । फिर बीरबल दोनों व्यक्तियों के पास जाता है और उन्हें कहता है की , शायद तुम्हे पता नहीं है कि मैं लोगों के दिमाग में क्या चल रहा है ये पढ़ सकता हूँ ।

इसलिए चाह कर भी तुम दोनों मुझसे सच छुपा नहीं सकते हो । तुम्हारे लिए अच्छा यही है की तुम मुझे सच क्या है वो बता दो । लेकिन ये दोनों ऐसे नहीं मानने वाले थे । दोनों में से कोई कुछ भी नहीं बोला ।

बीरबल ने कहा तुम दोनों मुझे सच नहीं बताने वाले हो , अच्छा ठीक है अब में ही पता लगाता हु । ऐसा करो तुम दोनों अपने पेट के बल जमीन पर लेट जाओ । में अपनी ऑंखें बंद करके तुम्हारे दिमाग में क्या चल रहा है ये पढता हु । बाद में मै सबको बता दूंगा की तुम दोनों में से सच्चा कौन है और झूठा कौन है ।

Akbar And Birbal Ki Kahani – बहुभाषी

मदद – Inspirational Story In Hindi

Akbar Birbal Short Story In Hindi – मेहमान की पहचान

दोनों अपने पेट के बल जमीन पर लेट जाते है । बीरबल अपनी आँखें बंद करके कुछ देर के लिए ध्यान लगाने का स्वांग करता है । फिर बीरबल ने आँखें खोलकर एक सैनिक से कहा जाओ और नौकर का गला काट दो ।

अब सैनिक को समज में नहीं आ रहा था की किसका गला काटे ? क्योकि उसको नहीं पता था की कौन नौकर है । किन्तु बीरबल का आदेश था इसलिए वो तलवार हाथ में लेकर दोनों व्यक्तियों की तरफ आगे बढ़ा । जैसे ही वो उनके करीब तलवार लेकर पंहुचा की पहला व्यक्ति उठा और बादशाह के पैरों पर जाकर गिर पड़ा । वो व्यक्ति बादशाह से माफ़ी मांगते हुए बोला , मैंने इस आदमी की दौलत चुराई है , में मालिक नहीं नौकर हु ।

इस तरह बीरबल ने अपनी अक्लमंदी से कौन मालिक है और कौन नौकर है इसका पता लगा लिया । बादशाह अकबर ने बीरबल को इनाम दिया ।

अगर आपको हमारी Story ( मालिक कौन और नौकर कौन ? – Hindi Story Of Akbar Birbal ) अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share कीजिये और Comment में जरूर बताइये की कैसी लगी हमारी Story ।

About the author

Abhishri vithalani

I am a hindi blogger. I like to write stories in hindi. I hope that by reading my blog you will definitely get to learn something and your attitude of living will also change.

Leave a Comment